लड़कों की नंगी फोटो

भाई बहन का सेकस

भाई बहन का सेकस, कमलावती- दिन में ऐसा तगड़ा चोदोगे तो क्या होगा? चूचियों को दबा-दबाकर मुलायम कर दिया। फिर कुछ दिनों के बाद बोलोगे की पपीता बन गई हैं चूचियां। लटकने लगी हैं। दीदी- हाँ... नहीं तो और क्या? कभी हमें इतने प्यार से नहीं चोदा... कभी आपको नहीं चोदा झरना दीदी। और कभी अपनी अम्मी को भी इतने प्यार से नहीं चोदा होगा, जितने प्यार से चम्पारानी की आज चुदाई हुई है। क्यों चम्पारानी?

मैं (चम्पारानी)- आप अगर बनियान उतरोगे तो हम भी अपनी चोली उतार फेकेंगे। देवरजी, हम भी अपने वायदे के पक्के हैं। उसका और तुम्हारा रिश्ता मैं मानता हूं, तुम्हारी अपनी निजी जिंदगी से ताल्लुक रखता है मगर जो कुछ तुम लोगों के साथ आज घटा वह अब तुम्हारा मामला नहीं रह गया बल्कि उसका ताल्लुक हम से और इस समाज से है. इसलिए अभी तक हम चुप थे, मगर इस मामले में अब तुम चुप होगे और हम अपना फर्ज निभाएँगे.

मैं : बापू आप'की शहर में मुझे कितनी याद आ रहे थी और आप हो की मुझे पह'ले की तरह प्यार ही नहीं करते हो. भाई बहन का सेकस मैंने सोचा! कि, मेरी उंगलियों के स्पर्श से माँ को मजा आ रहा है. क्यों ना इस सुनहरे मौके का फ़ायदा उठाया जाए!

कंप्यूटर नॉलेज इन हिंदी

  1. देवर- इसमें तो दोनों को ही मजा आएगा भाभीजान। चलो, ऐसा ही करते हैं। चूत चाटने का मजा और साथ ही साथ लण्ड चुसवाने का मजा। अरे वाह... मजा आएगा।
  2. बापू : बस थोड़ी देर की ही बात है.सबर का फल बहुत मीठा होगा. अब बापू लॉड को मेरी चूत के अंदर बाहर करनेलगे. आगे पीछे आगे पीछे. अंदर. बाहर अंदर. बाहर..मुझे मज़ा आने लगा. सेक्स वीडियो दिखाइए करते हुए
  3. में कुछ ना बोल पाई, और उसके रूम से बाहर आकर अपने रूम में आ गयी…गुस्से से मेरे हाथ पैर काँपने लगे…..मेने अमित को फोन लगाया. उनको परमिशन भी दे दी अगर किरण दीदी बेकाबू हो तो वो उसे संभाल सकता है। और फिर उसको घर आने को बोलकर वहां से निकल लिया।
  4. भाई बहन का सेकस...दीदी- हाँ रे चम्पा, फिर तेरे साथ तो बड़ा धोखा हो गया री। भाई के भरोसे में तेरी सहेली ने तेरी फुद्दी को अपने पति के लण्ड के आगे परोस दिया। मेरी सास ने हँसकर बोला- टाँगें फैलाकर चल रही है ना इसीलिए मैंने जाना... अपनी जवानी में तेरे ससुरजी से मिलने के बाद सुबह-सुबह मैं भी ऐसे ही चलती थी... पर तू तो दिन में ही...
  5. सासूमॉ- अच्छा अच्छा... मैं अपने कमरे में सोने जा रही हूँ। तुम लोगों से कल सुबह मिलूंगी... हे राम... रे... साले दोनों ने जमकर गाण्ड और चूत में अपना-अपना लण्ड पेला है। कल सुबह चम्पा से तेल लगवा करके गरम सेंक लगवाऊँगी, तब जाकर आराम मिलेगा... दीदी और झरना दोनों की ही आँखें परम तृप्ति से बंद थी। दोनों ही दूध पीने के बाद बिल्ली जैसे होंठों पे जीभ चलाती है... वैसे ही अपने होंठों के ऊपर जीभ फिरा रही थीं। इसके बाद दीदी नंगी ही बाथरूम चली गई।

माधुरी दीक्षित न्यूड

में: (सोनिया की बात सुन कर जैसे मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन निकल गयी) फिर भी तू उससे प्यार करती है….तू ये कैसे कर सकती है….

आम पकने लगे। चूची मेरी सहलाने पर चूत फड़कने है लगी। अब तो आ जाओ सनम तेरे लण्ड की प्यासी हूँ। मैं। प्यास मेरी बुझा दे... चूत एक माह से प्यासी ही जल्दी से लौड़ा इसमें घुसा दे। और कामरू इसे पढ़ने के बाद तुरंत ही ससुराल पहुँच गया था। झरना- अरे, तुम्हारी शादी से पहले की बात है। उसके मर्द को गये साल भर हो चुका था। चम्पा गाभिन हो। गई... बड़ी मुश्किल से मम्मी ने दवाई दिलवाई, और भैया को पता भी ना चलने दिया। पर चम्पा को खबरदार कर दिया गया की भैया की तरफ आँख उठाकर भी ना देखे। उस दिन का दिन और आज का दिन... चम्पा पूरी तरह से सुधर गई है।

भाई बहन का सेकस,मरता क्या नहीं करता, मैं अपनी ममेरी बहन की काली पैन्टी निकाल आज्ञाकारी कुत्ते की तरह फटाफट बुर चाटने लगा. उसकी कुंवारी रोयेंदार बुर की महक से अब मेरा भय जाता रहा और मैं पूरी तन्मयता से उसकी छोटी सी बुर चाटने लगा.

फिर सबने एक साथ खाना खाया और मामा बारिश कम होने के कारण पहले ही निकल लिए खेत के लिए. प्रियंका मम्मी सीमा और रीटा को लेकर उनके कमरे में चली गई.

दीदी- उठने दो उसे, मैं क्या डर रही हूँ? आने से ज्यादा से ज्यादा क्या होगा? मेरी फुद्दी में लण्ड ही तो डालेगा। ना। वैसे भी मैं चुदवाने के लिए तो तैयार ही हूँ।बीएफ ट्रिपल एक्स बीएफ

करीब 11:00 बजे बुआ ने माँ से कहा- भाभी जी आप लोग थक गए होंगे, आप आराम कीजिये मैं खेत में जा रही हूँ और मैं शाम को लौटूंगी. झरना- बैंक यू की क्या बात है भाभी... वो मेरी चुदाई करके मुझे मजे देते हैं, आप भी मेरी फुद्दी चूसती हैं। मेरा कितना खयाल रखती हैं, और मैं इतना भी नहीं कर सकती?

इसलिए मुझे अपनी फैमिली की जरूरत घर मे ही पूरी कर दु। अगर कोई भी इच्छा हो तो मेरी जानकारी में पूरी करवाऊं। सबके लिए अच्छा रहेगा।

मैं कुछ देर सोच मे पड़ गया (मुझे खुद पता नही था क्या करना है,लेकिन शायद उसे लगा होगा कि मे पैसो के कारण अपनी मम्मी को चुदवाने दे रहा हूँ,पर वो ग़लत थे),भाई बहन का सेकस कामरू- मुझसे भी अभी बर्दास्त नहीं हो रहा है कमलावती। अब मैं अपना लण्ड तेरी फुद्दी में घुसाने ही वाला हूँ।

News