ब्लू फिल्म फिल्म फिल्म

ब्लू फिल्म बिहारी

ब्लू फिल्म बिहारी, नही मे नही छोड़ूँगा, फिर भी तुम सबका धन्यवाद कि तुमने मुझे चुदाई का सही अर्थ समझा दिया. सन्नी ने जवाब दिया. मेरे रुकते ही प्रिया ने मेरा लण्ड अपने मुंह से निकाला और मुझसे पूछने लगी- क्या हुआ भाई? आप रुक क्यों गए? बहुत मज़ा आ रहा था।

सारिका : अब ये नाटक छोड़ो...मुझे पता है तुम जाग रहे हो...नीचे का दरवाजा तुमने मेरे लिए ही खोलकर रखा था ना आज...'' जब एक बार में इन तीनो के साथ चुदाई कर चुकी थी, तो हम सब बराबर साथ साथ मे चुदाई करने लगे. फिर जब राज ने मुझे अपने हनिमून पर साथ चलने को कहा तो में मान गयी, आगे की कहानी आप सबको मालूम ही है. मैने अपनी बात समाप्त करते हुए कहा.

मेने अपनी गर्दन हां मे हिलाई और बबिता अब मेरी टाँगो के बीच आ गयी. उसने धीरे से मेरी चूत पर हाथ फिराना शुरू किया. ब्लू फिल्म बिहारी कहा है प्रेम ?, कब आएगा प्रेम ?, पता नही वो जींदा है भी या नही, क्यों उसके लिए इतनी पागल बन रही हो, अब मैं ये पागल-पन और बर्दास्त नही कर सकती

हिंदी देसी गांव की बीएफ

  1. इसके बाद वह स्थिर हो गई… उसने अपना चेहरा चंदू के चेहरे से हटा लिया और अपनी एक चूची पकड़ कर उसे चंदू के मुंह पर रगड़ने लगी।
  2. जीनत एक बिकिनी दुकान पर गयी और दोनों के लिए बिकिनी लिया, मेरे लिए भी एक जोकी चड्डी ली। फिर उसी बिकिनी दुकान के चेंज-रूम में जाकर पहनकर बाहर आई। वाह क्या इंडियन माल थी… एसबीआई मोबाइल नंबर रजिस्ट्रेशन
  3. को सहलाने लगा. मेरी जीभ उसके लज़ीज़ चूतड़ों के एक-एक इंच का जायका ले रही थी. चूतड़ों को चाटते-चाटते मैंने अपने कपडे भी उतार दिये. मैंने भी सोचा कि जल्दबाजी से कोई फायदा नहीं होगा. मुझे इंतजार करना चाहिए. तभी वहीदा ने आ कर कहा कि खाना तैयार है. हम उठ कर डाइनिंग रूम में चले गए. वहीदा खाना परोसने के लिए झुकती तो मुझे लगता कि वो जानबूझ कर मुझे
  4. ब्लू फिल्म बिहारी...मैंने मजबूती से अमर को पकड़ा और अमर ने मुझे और मैंने धक्कों की प्रक्रिया को बढ़ाने लगी। कुछ पलों में अमर भी मेरे साथ नीचे से धक्के लगाने लगे। मुझे यह देखकर कोई हैरानी नहीं हुई क्योंकि शायद उसने, वो जो मैं देख रहा था, वही वीडियो प्रिया ने देख ली थी।
  5. पिरी बिल्कुल गिड़गिड़ाते हुए बोली- प्लीज जीनत अभी-अभी लण्ड अंदर गया है। जरा सा इंतेजार कर ना यार… तू ने आग लगाई है जरा सा ठंडा तो करने दे… तब उसने लिंग को बाहर निकाल लिया मुझे लगा शायद वो मान गया, पर अगले ही क्षण उसने ढेर सारा थूक लिंग के ऊपर मला और दुबारा मेरी योनि में घुसा दिया।

शिलाजीत के फायदे हिंदी

लेकिन जीनत उसके यहाँ रहने पर बहुत नाराज थी- ठीक है मदद कर दी, लेकिन इसका मतलब थोड़े है की ज़िंदगी भर रखना भी पड़े। तो सोनम और कोमल को भी क्यों नहीं रख लेते। उन दोनों को भी तो तुमने चोदा है। वो भी तो तुम्हें चाहती हैं। सोनम तो मुझसे कह भी रही थी की जीनत मुझे भी तुम्हारे साथ रहना है…

जब तक दोनों लड़कियां रस चूस रही थीं तब तक भाभी और मैं बातें करके आगे का प्लान बनाने लगे. अनिल, मैने काफ़ी चुदा लिया, अब बस इन बच्चियों को चोदो, रात भर इनकी बुर मारो, आज बिल्कुल खुल जाना चाहिये क्योंकि कल से इनकी चुदाई जरा कम करना उसके मोटे और लचीले मुम्मे देखकर उन दोनो की तो आँखे ही फटी रह गयी...जिन्हे देखकर उन्होने ना जाने कितनी बार मूठ मारी थी...और गणेश ने तो अपनी बीबी की चूत भी कितनी बार ये सोचकर मारी थी की उसके सामने काजल नंगी लेटी है...वही काजल आज अपने मुम्मों की नुमाइश लगाकर उनके सामने बैठी थी...

ब्लू फिल्म बिहारी,मेरा बेटा अपनी प्रेमिका रश्मि से शादी करना चाहता था, जो मुझे बिल्कुल भी पसंद नही थी, लेकिन मैने अपने बेटे के आगे मजबूर थी. ना जाने क्यों मुझे हमेशा यही लगता था कि वो मेरे बेटे के पैसों के पीछे है.

मुझे खुद पर यकीन करना मुश्किल हो रहा था कि मैं अपने ही रिश्तेदार के साथ यूँ सम्भोग में मस्त हो गई थी। मैं उनको पकड़े हुए काफी देर ऐसे ही लेटी रही।

खालू बोले- जब तेरा दुधू बड़ा हो जायेगा तो तेरा दूल्हा भी इसी तरह दुधू दबाकर चूसेगा। तुझे बड़ा मजा आएगा। और जानती हो खाला को सब पता है।पुलिस रेगुलेशन एक्ट १८६१ इन हिंदी पीडीएफ

मैंने आगे झुक कर अपना मुंह वहीदा के चूतड़ों के बीच रख दिया. जैसे ही मेरी जीभ का स्पर्श उसकी गांड से हुआ, वहीदा चिहुंक उठी. लेकिन वो मेरे मुंह से दूर होती उससे पहले ही मैंने उसकी रानों को पकड़ लिया. मैं अपनी जीभ कभी उसके एक और काजल वो सब सारिका को बताने लगी जिसे सुनकर सारिका हैरान होती चली गयी...और उन दोनो को वहीं बाते करता छोड़कर केशव नीचे आ गया और दरवाजा खोल दिया

इस दिल को तुम्हे किसी और के लिए धड़कना सीखाना होगा… मैं चाह कर भी प्यार के बंधन में नही बाँध पाउन्गा. इस दोस्ती को दोस्ती ही रहने दो तो अछा होगा

दोनों की साँसें तेज़ होने लगी थीं और फिर कुछ देर बाद कृपा फिर से हाँफते हुए गिर गया, तो हेमा ने फिर पूछा- हो गया?,ब्लू फिल्म बिहारी मैं जय की बात सुन कर हंस पड़ी और बोली, तो तुम यहां से जाने के लिए क्यों अड़े हुए हो? और फिर इतनी तेज बारिश में इतनी रात गए तुम जाओगे कैसे? तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड वहां तुम्हारा इंतजार कर रही है क्या, जो ऐसे जिद पकड़ के बैठे हो? मैं तुम्हें खा नहीं जाउंगी। तुम जाकर के ड्राइंग रूम में सो जाओ।

News