चाची की चुदाई चाची की चुदाई चाची की चुदाई

बीड जिल्ह्यातील बातम्या

बीड जिल्ह्यातील बातम्या, करम कौर के मानों सब अरमानों पर पानी फ़िर गया । वह सिर्फ़ और सिर्फ़ अभी वही सब चाहती थी । जो गगन बता रही थी । पर एकदम ऐसा वह कह भी कैसे सकती थी । तब उसने भी गगन की तरह नमक मिर्च लगाकर उस मैटर का पूरा पूरा फ़ायदा उठाने का निश्चय किया । भाभी- वो तो मैं पहले दिन से ही समझ गई थी। इसीलिए अगली बार से बाथरूम में ही छोड़कर जाती थी। पर तुमने हिम्मत बहुत देर में दिखाई।

मंदिर में पहुँच कर हमने पूजा करवाई ऑर वहाँ सभी ग़रीबो को नीरा के हाथ से मिठाई फ्रूट ऑर पैसे बटवाए सभी को वो स्नेह से देती जा रही थी ऑर बदले में उनका आशीर्वाद लेती जा रही थी. बस फिर क्या था, उस कमरे मे पूरी रात , वासना का नंगा नाच चला, कभी मैं पायल दी के साथ और कभी काजल के साथ, पूरी रात हम सोए नही, बस नंगे होकर सेक्स करने मे लगे रहे, और सुबह करीब 5 बजे हम सो भी गये, ऐसे ही, नंगे. एक दूसरे की बाहों मे.

सर ने मेरे चेहरे के नीचे एक तकिया दिया और अपने घुटने मेरे बदन के दोनों ओर टेक कर बैठ गये. अब अपने चूतड़ पकड़ और खोल, तुझे भी आसानी होगी और मुझे भी. और एक बात है बेटे, गुदा ढीला छोड़ना नहीं तो तुझे ही दर्द होगा. समझ ले कि तू लड़की है और अपने सैंया के लिये चूत खोल रही है, ठीक है ना? बीड जिल्ह्यातील बातम्या दीक्षा अब उठ के बैठ चुकी थी...लेकिन नीरा के इस तरह के बर्ताव की वजह से थोड़ी शर्मिंदा भी हो रही थी...

तन्मय नावाचा अर्थ मराठी

  1. हम लोग वाराणसी एरपोर्ट पहुँच गये थे...वहाँ से हमे एक कार लेकर 2 घंटे के सफ़र पर निकलना था....मैने शमा को फोन करके यहाँ पहुँचने के बारे में बता दिया....उसकी आवाज़ से घबराहट काफ़ी सॉफ दिखाई पड़ रही थी....
  2. मैंने नीचे देखा तो उसकी गांड में से मेरा रस बहकर चट्टान पर गिर रहा था....उसकी चूत में से भी काफी पानी निकला था, ऐसा लग रहा था की वहां किसी ने एक कप पानी डाला हो...इतनी गीली जगह हो गयी थी. ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ಸೆಕ್ಸ್ ಮೂವಿ
  3. जब वो लोग घर पहुँच जाते है तो संध्या उसे वहाँ हुई सारी बाते बता देती है...किशोर ये बाते सुनकर माथा पीट लेता है अपना.... विराज- ऐसा है क्या? फिर तो घुमा ला। तब तक शालू की चूत भी थोड़ी टाइट हो जाएगी। फिर दोनों भाई मिल के साथ में भाभीचोद बनेंगे।
  4. बीड जिल्ह्यातील बातम्या...मै अब चौंका , आंटी ने बीमारी की बात पहले भी दो तीन बार बोली थी परन्तु मैंने उसे उनका गुस्सा समझा था , लेकिन अभी तो बिलकुल शान्ति से समझा रही थी | मैंने डर और उत्सुकता से पूछा- आंटी मुझे हुआ क्या है और कौन सी बीमारी के इलाज का सलाह दे रहीं है ? उसके मन मस्तिष्क ओर उसका बदन ऐसी पवित्र रीश्तो के बीच सेक्स संबंध के बारे में सोच कर और भी ज्यादा उत्तेजना से भर जाता । भाभी और देवर के बीच इस तरह का गलत संबंध भी हो सकता है उसे आज ही पता चला था।
  5. फ़िर उसने एक लकङी उठाकर ढोल के पुरे में भोंक दी । ढोल दोनों तरफ़ से फ़ट गया । उसने बेहद नफ़रत से ढोल में एक लात मारी । गोल ढोल बाहर लुढकता ही चला गया । लुङकता ही चला गया । फ़िर उसने घुटनों के बल बैठकर खुदा की इबादत की । अजब महॉल बन गया था आँसुओ की नमी के साथ चेहरो पर मुस्कुराहते भी अब फैलने लगी थी....और ये सब में चुपचाप सोफे पर बैठा बैठा अपलक देखे जा रहा था.....ऐसी खुशी पहले कभी इस घर ने नही देखी और ना मेरी आँखो ने कभी देखी.....इस खुशी का पूरा लुफ्त मैं उठा लेना चाहता था.....

காலேஜ் கேர்ள் செஸ்

उसने उसकी आलीशन कोठी और वैभव पर एक मामूली सी निगाह डालना भी उचित नहीं समझा था । उसने उसकी आलीशान बेटी को भरपूर देखना तो दूर अभी देखने की ही कोई कोशिश नहीं की । जबकि वह दस बार उसके सामने आ चुकी थी । यह सब अनुभव किसी इंसान के प्रति होना बराङ की जिन्दगी में पहला वाकया था ।

तीन लड़कियां कुल्फी खा रहीं हैं। एक पिघला के खा रही है एक चूस के खा रही है और एक काट के खा रही है तो तीनों में से कौन शादीशुदा है? में फिर भाभी के रूम की तरफ़ चल देता हूँ और वहाँ मम्मी के सामने बैठ जाता हूँ...अपना सिर नीचे झुकाए हुए ...

बीड जिल्ह्यातील बातम्या,नीरा--पता नही भाभी मैं तो यहाँ बैठी थी तभी किसी ने पीछे से मेरे सिर पर किसी चीज़ से मार कर मुझे बेहोश कर दिया.....हां याद आया बेहोश होने से पहले मैने दो नक़ाबपोशो को देखा था.....

मैंने आगे बात बढ़ाते हुए उससे पूछा तुम अपने पिता कपाला के खिलाफ जाके देवसेना की मदद क्यों कर रही हो ?

खैर, कुछ देर बाते करने के बाद हम सभी नीचे आ गये, मोम-डॅड भी थोड़ी देर मे घर पहुँच गये और सबने मिलकर खाना बनाया और खाया भी.கொத்தனாரும் சித்தாளும்

भाभी--वैसे ये जगह काफ़ी अच्छी है लेकिन मेरा सोचना ऐसा है कि हमे ज़मीन पर ही टॅंट लगा कर रहना चाहिए....हम लोग काफ़ी उँचाई पर है....कही उतरते चढ़ते कोई हादसा ना हो जाए..... दोनों कुछ ही देर में उपस्थित हो गए तो मैंने उनसे पूछा रानी विशाला और चरक जी मैं आप दोनों से पूछना चाहता हु की आपके कबीले में सरदार को पूरी बात न बताना और अँधेरे में रखने की सजा क्या है ?

विजय- ले भाई के गुड्डे से खेल। तू ऐसे ही मस्ताने लण्ड का दीवाना है ना। ले देख तेरे भैया कितने प्यार से तुझे अपना लण्ड दे रहे हैं.

राज लड़खड़ाते हुए उसके घर से बाहर निकलता है……और राधा उसे मुस्कुराती हुई देखती रहती है..और आँखों ही आँखों मे उस पर ना जाने कितना प्यार लूटा बैठती है….और इस प्रकार दोनो के प्यार का आरंभ होता है…..,बीड जिल्ह्यातील बातम्या फ़िर महीनों गुजर गये । पर वो नहीं मिली । वह दीवाना सा उसकी याद में जंगल में बाँसुरी बजाता । चारू चारूलता पुकारता । पर वो निर्मोही लङकी उसकी पुकार पर कोई ध्यान नहीं देती थी । उसने बहुत बङी बेबफ़ाई की थी ।

News